#दोस्त


#Unfriend #दोस्त #YQBaba #YQdidi #YourQuoteBaba #Eye sketch done by me
दोस्त#

ऐ दोस्त तूनें क्यों, ऐसा काम कर दिया,

रख के दिल में अपने, बदनाम कर दिया,

देखा था तुमको मैनें, हमदर्द की तरह,

क्यों चाहत को अपनी, सरेआम कर दिया।

बेचैंन बहुत हूँ जबसे, तुझसे है सुना,

कैसे दिल में आई तेरे, मुझको क्या पता,

दोस्ती का ये सिला, मंज़ूर न मुझे,

दिल मेरा दु:खा कितना, मालूम क्या तुझे?

आँसू नहीं छलके, पर दिल रोया है मेरा,

घोंटा गला दोस्ती का, ये तेरा है गुनाह,

समझा तुझे न पहले, दिल की कसक रही,

चाहा न कभी मैनें तुझे, क्या मेरी खता यही?

एकतरफा प्यार, दीवानगी ही तो है,

जिससे नहीं हैं हासिल कुछ ख्वाब की तरह,

अब क्या करूँ मैं, तूने ऐसा काम कर दिया,

रख के दिल में अपनें बदनाम कर दिया।

Follow my writings on http://www.yourquote.in/anjula-bhadauria-x08/quotes/ #yourquote

Advertisements

Author: अंjulaज़

Author#Editor#Poet#Artist#Principal#Educationist#Web Designer#Advanced Web Developer#Advanced Pranic Healer#Certified Feng Shui Expert

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s